HomeFarrukhabadहवा के साथ बूंदाबांदी ने बढ़ाई किसानों की चिंता

हवा के साथ बूंदाबांदी ने बढ़ाई किसानों की चिंता


खबर सुनें कायमगंज की खबर सुनें। दो दिन से मौसम का मिजाज बदला नजर आ रहा है। शुक्रवार की रात तेज हवा के साथ बारिश हुई। मौसम के इस रुख ने आलू किसानों को चिंतित कर दिया है। तेज हवा के कारण गेहूं की फसल जलमग्न खेतों में गिर गई। किसानों ने आलू की खुदाई तेज कर दी है। शुक्रवार शाम से ही बादलों की लुका-छिपी देख किसान परेशान होने लगे। उन्हें डर है कि कहीं तेज बारिश न हो जाए। आलू की फसल खेतों में पक चुकी है। किसी खेत में आलू पड़े हैं तो कहीं आलू खुदाई के लिए तैयार हैं। शुक्रवार देर रात तेज हवा के साथ बारिश हुई। सुबह किसान अपने खेतों में पहुंच गए। उन्हें डर लगने लगा था कि अगर तेज बारिश हुई तो आलू सड़ जाएंगे। इसके चलते किसानों ने आलू की खुदाई तेज कर दी है। किसानों का मानना ​​है कि आलू की फसल अच्छी हुई है। मौसम के मिजाज को देखते हुए किसान चाहते हैं कि आलू को जल्द से जल्द खोदकर सुरक्षित कोल्ड स्टोरेज में भेज दिया जाए. 10 दिन से चली आ रही गर्मी के कारण गेहूं की वृद्धि रुक ​​गई है। इससे कुछ किसानों ने गेहूं के खेत में पानी डाला था। तेज हवा के कारण इन खेतों का गेहूं गिर गया है। इससे किसानों को ऐसी फसल में उत्पादन कम होने का डर सता रहा है। ग्राम रानीपुर गौर निवासी बृजेश ने बताया कि वह कई वर्षों से आलू की खेती कर रहा है। फसल तैयार है। इस समय बारिश हुई तो आलू को काफी नुकसान होगा। बारिश से आलू की गुणवत्ता और उत्पादन में गिरावट आएगी। कुछ जलजमाव वाले गेहूं के खेतों में फसल गिर गई है। रानीपुर गांव के किसान श्री सिंह ने बताया कि पिछले माह खराब मौसम के कारण आलू में रोग लग गया था. उत्पादन में 20 फीसदी की कमी आई है। अब मौसम फिर खराब हो गया है। आलू की कटाई तेज कर दी गई है। ताकि आलू को सुरक्षित कोल्ड स्टोरेज में भेजा जा सके। भारी बारिश से नुकसान होने की संभावना है। कायमगंज। दो दिन से मौसम का मिजाज बदला नजर आ रहा है। शुक्रवार की रात तेज हवा के साथ बारिश हुई। मौसम के इस रुख ने आलू किसानों को चिंतित कर दिया है। तेज हवा के कारण गेहूं की फसल जलमग्न खेतों में गिर गई। किसानों ने आलू की खुदाई तेज कर दी है। शुक्रवार शाम से ही बादलों की लुका-छिपी देख किसान परेशान होने लगे। उन्हें डर है कि कहीं तेज बारिश न हो जाए। आलू की फसल खेतों में पक चुकी है। किसी खेत में आलू पड़े हैं तो कहीं आलू खुदाई के लिए तैयार हैं। शुक्रवार देर रात तेज हवा के साथ बारिश हुई। सुबह किसान अपने खेतों में पहुंच गए। उन्हें डर लगने लगा था कि अगर तेज बारिश हुई तो आलू सड़ जाएंगे। इसके चलते किसानों ने आलू की खुदाई तेज कर दी है। किसानों का मानना ​​है कि आलू की फसल अच्छी हुई है। मौसम के मिजाज को देखते हुए किसान चाहते हैं कि आलू को जल्द से जल्द खोदकर सुरक्षित कोल्ड स्टोरेज में भेज दिया जाए. 10 दिन से चली आ रही गर्मी के कारण गेहूं की वृद्धि रुक ​​गई है। इससे कुछ किसानों ने गेहूं के खेत में पानी डाला था। तेज हवा के कारण इन खेतों का गेहूं गिर गया है। इससे किसानों को ऐसी फसल में उत्पादन कम होने का डर सता रहा है। ग्राम रानीपुर गौर निवासी बृजेश ने बताया कि वह कई वर्षों से आलू की खेती कर रहा है। फसल तैयार है। इस समय बारिश हुई तो आलू को काफी नुकसान होगा। बारिश से आलू की गुणवत्ता और उत्पादन में गिरावट आएगी। कुछ जलजमाव वाले गेहूं के खेतों में फसल गिर गई है। ग्राम रानीपुर के किसान श्री सिंह ने बताया कि पिछले माह खराब मौसम के कारण आलू में रोग लग गया था. उत्पादन में 20 फीसदी की कमी आई है। अब मौसम फिर खराब हो गया है। आलू की कटाई तेज कर दी गई है। ताकि आलू को सुरक्षित कोल्ड स्टोरेज में भेजा जा सके। भारी बारिश से नुकसान होने की संभावना है। ,


नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करे और ज्वाइन करें हमारा टेलीग्राम ग्रुप और उत्तर प्रदेश की ताज़ा खबरों से जुड़े रहें | 

>>>Click Here to Join our Telegram Group & Get Instant Alert of Uttar Prdaesh News<<<

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!