Prayagraj News: संविदा भर्ती के विरोध में सड़क पर उतरे छात्र, कई गिरफ्तार

0
87
कानपुर में 226 नए पॉजिटिव मिले

Prayagraj News: संविदा भर्ती के विरोध में सड़क पर उतरे छात्र, कई गिरफ्तार

समूह ‘ख’ एवं ‘ग’ की सरकारी नौकरी में पहले पांच साल संविदा पर नियुक्ति दिए जाने के प्रदेश सरकार के प्रस्ताव के विरोध में युवा बेरोजगार सोमवार को सड़क पर उतर आए। इविवि छात्रसंघ भवन के बाहर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान जहां एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस की बीच तीखी झड़प हुई, वहीं बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन के दौरान युवा मंच के 10 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि, देर शाम सभी को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। 

विज्ञापन

सरकारी नौकरी में पहले पांच वर्षों तक संविदा पर नियुक्त किए जाने का प्रस्ताव वापस लेने और रिक्त पदों पर भर्ती पूरी किए जाने की मांग को लेकर युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में युवाओं ने सोमवार सुबह बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया। वहां बड़ी संख्या में छात्र जुटे थे।

प्रदर्शन शुरू होते ही पुलिस फोर्स सक्रिय हो गई और प्रदर्शन में शामिल युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, अमरेंद्र सिंह, शशि धर यादव, अरविंद सिंह, राहुल कुमार पटेल, बलराम सिंह, कुलदीप कुमार, शोभित सिंह आदि को हिरासत में ले लिया। सभी को जॉर्जटाउन थाने ले जाया गया और देर शाम चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। युवा मंच के संयोजक राजेश सचान ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हिरासत में लिए जाने की तीखी भत्र्सना की। उन्होंने कहा कि सरकार अगर संविदा पर नियुक्ति का प्रस्ताव वापस नहीं लेती है तो आंदोलन और तेज होगा।

.feat_slide {border:0;appearance:none; -webkit-appearance:none}

विज्ञापन

आगे पढ़ें

.ad-600 {width: 600px;text-align: center;}
.ad-600 .vigyapan{background:none}

विज्ञापन

.social-poll {margin:0px auto;width:300px;}
.social-poll .poll-wrapper {box-sizing: border-box;}

समूह ‘ख’ एवं ‘ग’ की सरकारी नौकरी में पहले पांच साल संविदा पर नियुक्ति दिए जाने के प्रदेश सरकार के प्रस्ताव के विरोध में युवा बेरोजगार सोमवार को सड़क पर उतर आए। इविवि छात्रसंघ भवन के बाहर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान जहां एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस की बीच तीखी झड़प हुई, वहीं बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन के दौरान युवा मंच के 10 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि, देर शाम सभी को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। 

विज्ञापन

सरकारी नौकरी में पहले पांच वर्षों तक संविदा पर नियुक्त किए जाने का प्रस्ताव वापस लेने और रिक्त पदों पर भर्ती पूरी किए जाने की मांग को लेकर युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में युवाओं ने सोमवार सुबह बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया। वहां बड़ी संख्या में छात्र जुटे थे।

प्रदर्शन शुरू होते ही पुलिस फोर्स सक्रिय हो गई और प्रदर्शन में शामिल युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, अमरेंद्र सिंह, शशि धर यादव, अरविंद सिंह, राहुल कुमार पटेल, बलराम सिंह, कुलदीप कुमार, शोभित सिंह आदि को हिरासत में ले लिया। सभी को जॉर्जटाउन थाने ले जाया गया और देर शाम चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। युवा मंच के संयोजक राजेश सचान ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हिरासत में लिए जाने की तीखी भत्र्सना की। उन्होंने कहा कि सरकार अगर संविदा पर नियुक्ति का प्रस्ताव वापस नहीं लेती है तो आंदोलन और तेज होगा।

समूह ‘ख’ एवं ‘ग’ की सरकारी नौकरी में पहले पांच साल संविदा पर नियुक्ति दिए जाने के प्रदेश सरकार के प्रस्ताव के विरोध में युवा बेरोजगार सोमवार को सड़क पर उतर आए। इविवि छात्रसंघ भवन के बाहर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान जहां एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस की बीच तीखी झड़प हुई, वहीं बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन के दौरान युवा मंच के 10 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि, देर शाम सभी को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। 

विज्ञापन

सरकारी नौकरी में पहले पांच वर्षों तक संविदा पर नियुक्त किए जाने का प्रस्ताव वापस लेने और रिक्त पदों पर भर्ती पूरी किए जाने की मांग को लेकर युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में युवाओं ने सोमवार सुबह बालसन चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया। वहां बड़ी संख्या में छात्र जुटे थे।

प्रदर्शन शुरू होते ही पुलिस फोर्स सक्रिय हो गई और प्रदर्शन में शामिल युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, अमरेंद्र सिंह, शशि धर यादव, अरविंद सिंह, राहुल कुमार पटेल, बलराम सिंह, कुलदीप कुमार, शोभित सिंह आदि को हिरासत में ले लिया। सभी को जॉर्जटाउन थाने ले जाया गया और देर शाम चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। युवा मंच के संयोजक राजेश सचान ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हिरासत में लिए जाने की तीखी भत्र्सना की। उन्होंने कहा कि सरकार अगर संविदा पर नियुक्ति का प्रस्ताव वापस नहीं लेती है तो आंदोलन और तेज होगा।

.feat_slide {border:0;appearance:none; -webkit-appearance:none}

विज्ञापन

आगे पढ़ें

.ad-600 {width: 600px;text-align: center;}
.ad-600 .vigyapan{background:none}

विज्ञापन

.social-poll {margin:0px auto;width:300px;}
.social-poll .poll-wrapper {box-sizing: border-box;}

Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here