पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंची प्रियंका गांधी, रविदास मंदिर में टेका मत्था

प्रियंका ने संत रविदास की प्रतिमा के सामने मत्था टेकते हुए आशीर्वाद मांगा. इसके बाद मंदिर में संत निरंजन दास से आशीर्वाद लिया. Source link

UP News: वाराणसी के संत रविदास मंदिर में नेताओं की क्यों लगी भीड़! जानिए वजह

उन्होंने कहा है कि कांग्रेस, भाजपा (BJP) और दूसरी पार्टियों ने तो हमेशा से ही दलित समाज के संतों की उपेक्षा की है लेकिन, अब राजनीतिक लाभ लेने के लिए नाटकबाजी कर रही हैं. Source link

वाराणसी में ट्रैफिक पुलिस ने डायवर्ट किया रूट, आज घर से निकलने से पहले पढ़ लें यह खबर

माघ पूर्णिमा और संत रविदास जयंती के मद्देनजर शहर में शुक्रवार की शाम से ही श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ने लगेगा। इसके मद्देनजर शुक्रवार रात से रूट डायवर्जन की व्यवस्था की गई है। एसपी ट्रैफिक श्रवण कुमार सिंह ने आमजन से अपील की है। Source link

तस्वीरें: सीरगोवर्धन में नजर आया सेवा और समर्पण का भाव, रविदास जयंती पर सजा संत का गांव

संत रविदास के सपनों का गांव बेगमपुरा सज धजकर तैयार हो चुका है। संत निरंजन दास जब अपने अनुयायियों का हाल-चाल लेने मेला क्षेत्र में निकले तो पूरा क्षेत्र रविदास शक्ति अमर रहे, जो बोले सो निर्भय और सद्गुरु महाराज की जय के जयकारों से गूंज उठा। Source link

भैरव दरबार पहुंचे धर्मेंद्र प्रधान, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत पर कही ये बात

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा कि अमेरिका में बर्फ़ीली तूफान के कारण पेट्रोल का उत्पादन कम हो गया है. इस वजह से दाम बढ़ गए हैं, गर्मी आने के साथ ही कम होंगे. Source link

संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में हाई अलर्ट, घाटों से लेकर हाईवे तक सतर्कता

संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में हाई अलर्ट घोषित है। इसके मद्देनजर गंगा घाटों से लेकर डाफी बाईपास तक पुलिस को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। Source link

उत्‍तर प्रदेश राज्‍य हिंदी संस्‍थान पुरस्‍कारों में …

वहीं पूर्वांचल के आजमगढ़, चंदौली, जौनपुर और सोनभद्र के साहित्‍याकारों के भी नाम … Source link

2022 विधानसभा चुनावों के ल‍िए क्‍या है प्र‍ियंका गांधी का अगला प्‍लान? जानें

Uttar Pradesh assembly elections: कांग्रेस महासच‍िव प्र‍ियंका गांधी किसान बिरादारी से जुडे़ हिंदु-मुस्‍ल‍िम, सिक्ख, जाट-गुर्जर और निषादों से मुलाकात के बाद अब दलितों को भी साधने की कवायद मे जुट गई हैं. Source link