{“_id”:”621e5da08df7930300349f63″,,”slug”:”द-अराइवल-ऑफ-सेंट्स-इज़-लाइक-द-सूर्य-विहसंत-सागर-मैनपुरी-न्यूज-agr5258598125″, “टाइप”: “स्टोरी”,” Status”:”publish”,”title_hn”:”The Arrival of Saints Like the Sun: Vihsant Sagar”,,”category”:{“title”:”City & States”,,”title_hn”:”City & State”, “स्लग”:”सिटी-एंड-स्टेट्स”}} समाचार सुनें समाचार सुनें मैनपुरी। ध्यान गुरु मुनिराज विहसंत सागर महाराज और तपस्वी मुनिराज विश्व सूर्य सागर जी महाराज मंगलवार को नगर पहुंचे। कई जगहों पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। जैन साधु ने कहा कि संतों का आगमन सूर्य के समान होता है। पंडित अनंत कुमार जैन के फार्म हाउस में आरती और पैर धोकर ध्यान गुरु संघ का भव्य स्वागत किया गया। वहाँ से जैन मुनि श्री महावीर जिनालय, आगरा रोड स्थित विशाखाना स्थित बड़ा चौराहा, करहल रोड पर बैंड बाजा और श्री जी के दर्शन करने पहुंचे। उन्होंने यहां शिलान्यास स्थल का निरीक्षण किया। श्री महावीर जिनालय में मुनि श्री की भव्य पैर धुलाई व आरती की गई। विभिन्न स्थानों पर मुनि श्री की आरती की गई। गणाचार्य श्री विराग सागर महाराज के चित्र का अनावरण कर मुनि श्री श्री आदिनाथ जिनालय बड़ा मंदिर के प्रांगण में बने भव्य पंडाल में दीप प्रज्ज्वलित किया गया। इन गणमान्य व्यक्तियों द्वारा मुनि श्री को नारियल अर्पित किए गए। दिगंबर जैन बड़ा मंदिर सहित सभी मंदिरों के पदाधिकारियों द्वारा मुनि श्री की संगीतमय पूजा की गई। कार्यक्रम में आह्वान डॉ. सुशील जैन ने किया। इस अवसर पर मुनि श्री ने अपने प्रवचन में कहा कि जैन संत सूर्य के समान होते हैं। वह सभी को समान रूप से अपना प्रकाश देते हैं, संतों के आगमन से समाज जुड़ता है, उन्होंने कहा कि वह टूटे हुए दिलों को शुभकामनाएं देने आए हैं। इंसान को इंसानी पहचान देने आए हैं और मेरे पास सिर्फ गुरु का आशीर्वाद देने के लिए और कुछ नहीं आया है। उसने कहा कि तुम लोग मुझे अपने अंदर से निकाल कर हम सब पर निकल आओ। संचालन पंडित कमल कुमार जैन ने किया। सुरेश चंद जैन, नरेश चंद जैन, अनंत कुमार जैन, डॉ सुशील जैन, डॉ सौरभ जैन, उमेश चंद जैन, रमेश चंद जैन, संजय जैन, प्रमोद जैन, सुशील जैन, आदेश जैन, राकेश जैन, विकास जैन बंटी, गौरव जैन पंजाबी कॉलोनी, सम्यक जैन, संजय जैन गोल्डी, विजयकांत जैन, अजय कांत जैन, संजय जैन लोहिया, अभिषेक जैन, शिवम जैन, प्रवीण जैन, चंदन जैन, सत्यम जैन, बीनू बंसल, अशोक गुप्ता पप्पू आदि उपस्थित थे। मैनपुरी। ध्यान गुरु मुनिराज विहसंत सागर महाराज और तपस्वी मुनिराज विश्व सूर्य सागर जी महाराज मंगलवार को नगर पहुंचे। कई जगहों पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। जैन साधु ने कहा कि संतों का आगमन सूर्य के समान होता है। पंडित अनंत कुमार जैन के फार्म हाउस में आरती और पैर धोकर ध्यान गुरु संघ का भव्य स्वागत किया गया। वहाँ से जैन मुनि श्री महावीर जिनालय, आगरा रोड स्थित विशाखाना स्थित बड़ा चौराहा, करहल रोड पर बैंड बाजा और श्री जी के दर्शन करने पहुंचे। उन्होंने यहां शिलान्यास स्थल का निरीक्षण किया। श्री महावीर जिनालय में मुनि श्री की भव्य पैर धुलाई व आरती की गई। विभिन्न स्थानों पर मुनि श्री की आरती की गई। गणाचार्य श्री विराग सागर महाराज के चित्र का अनावरण कर मुनि श्री श्री आदिनाथ जिनालय बड़ा मंदिर के प्रांगण में बने भव्य पंडाल में दीप प्रज्ज्वलित किया गया। इन गणमान्य व्यक्तियों द्वारा मुनि श्री को नारियल अर्पित किए गए। दिगंबर जैन बड़ा मंदिर सहित सभी मंदिरों के पदाधिकारियों द्वारा मुनि श्री की संगीतमय पूजा की गई। कार्यक्रम में आह्वान डॉ. सुशील जैन ने किया। इस अवसर पर मुनि श्री ने अपने प्रवचन में कहा कि जैन संत सूर्य के समान होते हैं। वह सभी को समान रूप से अपना प्रकाश देते हैं, संतों के आगमन से समाज जुड़ता है, उन्होंने कहा कि वह टूटे हुए दिलों को शुभकामनाएं देने आए हैं। इंसान को इंसानी पहचान देने आए हैं और मेरे पास सिर्फ गुरु का आशीर्वाद देने के लिए और कुछ नहीं आया है। उसने कहा कि तुम लोग मुझे अपने अंदर से निकाल कर हम सब पर निकल आओ। संचालन पंडित कमल कुमार जैन ने किया। सुरेश चंद जैन, नरेश चंद जैन, अनंत कुमार जैन, डॉ सुशील जैन, डॉ सौरभ जैन, उमेश चंद जैन, रमेश चंद जैन, संजय जैन, प्रमोद जैन, सुशील जैन, आदेश जैन, राकेश जैन, विकास जैन बंटी, गौरव जैन पंजाबी कॉलोनी, सम्यक जैन, संजय जैन गोल्डी, विजयकांत जैन, अजय कांत जैन, संजय जैन लोहिया, अभिषेक जैन, शिवम जैन, प्रवीण जैन, चंदन जैन, सत्यम जैन, बीनू बंसल, अशोक गुप्ता पप्पू आदि उपस्थित थे। ,

UttarPradeshLive.Com Home Click here

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply