खबर सुनें खबर सुनें शाहजहांपुर। मुमुक्षु आश्रम में श्री राम कथा के चौथे दिन व्यास संत विजय कौशल महाराज ने शिव-पार्वती विवाह की कथा सुनाई। यह सुनकर कथा पंडाल में मौजूद दर्शक भावुक हो गए। विजय कौशल महाराज ने कहा कि नारद ने पार्वती के माता-पिता से कहा कि आपकी बेटी का नाम बहुत अच्छा है, लेकिन उसकी शादी एक बेघर, निराकार व्यक्ति से होगी। यह सुनकर पार्वती के माता-पिता चिंतित हो गए और नारद से एक उपयुक्त वर खोजने के लिए कहा। पूछा कैसे मिलेगा। नारद ने तपस्या करने का सुझाव दिया। पार्वती ने घोर तपस्या के साथ शिव को अपना दूल्हा बना लिया। तब सती के वियोग में घूम रहे भगवान विष्णु को भगवान विष्णु ने विवाह के लिए राजी कर लिया। पार्वती के पिता अपने गुरु के आदेश का पालन करते हुए शिव से विवाह करने के लिए तैयार हो गए। इसके बाद शिव की बारात निकली। इसमें सभी भूत-प्रेत शामिल थे। शिव-पार्वती की बारात लगते ही चारों ओर खुशी फैल गई। कथा के दौरान एसएस कॉलेज सचिव डॉ. अवनीश मिश्रा, प्राचार्य डॉ. अनुराग अग्रवाल, किशन अग्रवाल, हितेश अग्रवाल, रमेश सक्सेना, प्रमोद अग्रवाल, डॉ. आलोक मिश्रा, पं. राजाराम मिश्र, बाबूराम गुप्ता, धर्मेंद्र आदि उपस्थित थे। शाहजहांपुर। मुमुक्षु आश्रम में श्री राम कथा के चौथे दिन व्यास संत विजय कौशल महाराज ने शिव-पार्वती विवाह की कथा सुनाई। यह सुनकर कथा पंडाल में मौजूद दर्शक भावुक हो गए। विजय कौशल महाराज ने कहा कि नारद ने पार्वती के माता-पिता से कहा कि आपकी बेटी का नाम बहुत अच्छा है, लेकिन उसकी शादी एक बेघर, निराकार व्यक्ति से होगी। यह सुनकर पार्वती के माता-पिता चिंतित हो गए और नारद से एक योग्य वर पाने का उपाय पूछा। नारद ने तपस्या करने का सुझाव दिया। पार्वती ने घोर तपस्या के साथ शिव को अपना दूल्हा बना लिया। तब सती के वियोग में घूम रहे भगवान विष्णु को भगवान विष्णु ने विवाह के लिए राजी कर लिया। पार्वती के पिता अपने गुरु के आदेश का पालन करते हुए शिव से विवाह करने के लिए तैयार हो गए। इसके बाद शिव की बारात निकली। इसमें भूत-प्रेत सभी ने भाग लिया। शिव-पार्वती की बारात लगते ही चारों ओर खुशी फैल गई। कथा के दौरान एसएस कॉलेज सचिव डॉ. अवनीश मिश्रा, प्राचार्य डॉ. अनुराग अग्रवाल, किशन अग्रवाल, हितेश अग्रवाल, रमेश सक्सेना, प्रमोद अग्रवाल, डॉ. आलोक मिश्रा, पं. राजाराम मिश्र, बाबूराम गुप्ता, धर्मेंद्र आदि उपस्थित थे। ,

UttarPradeshLive.Com Home Click here

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply