भारत में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली एक बड़ी आबादी सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली राशन सुविधा का लाभ उठाती है। इन लोगों के लिए, भारत सरकार राशन कार्ड जारी करती है, ताकि गरीब लोगों के बीच राशन को व्यवस्थित रूप से वितरित किया जा सके। राशन लेने के अलावा कई अन्य जगहों पर भी राशन कार्ड का उपयोग किया जाता है। वहीं कई अपात्र लोग भी हैं जो राशन कार्ड के माध्यम से सरकार द्वारा दी जाने वाली राशन सुविधा का लाभ उठा रहे हैं. ऐसे में सरकार ने इन लोगों के लिए कई नियम बनाए हैं, ताकि गलती से भी कोई अपात्र व्यक्ति राशन की सुविधा का लाभ न उठा सके. अगर आप राशन कार्ड की मदद से गलत तरीके से राशन सुविधा का लाभ उठा रहे हैं। ऐसे में आपको अपना राशन कार्ड सरेंडर करना होगा। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं। ऐसे में आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

कोरोना महामारी के बाद राशन कार्ड से जुड़े फर्जीवाड़े के कई मामले सामने आए हैं। देश में कई ऐसे लोग हैं जो पात्र न होने के बाद भी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत मिलने वाले मुफ्त राशन का गलत फायदा उठा रहे हैं.

गलत तरीके से लाभ लेने वाले इन अपात्र लाभार्थियों के खिलाफ सरकार सख्त है। अधिकारियों की जांच में कई ऐसे अपात्र लोग मिले हैं, जो सरकार की मुफ्त राशन सुविधा का गलत फायदा उठा रहे हैं.

ऐसे में सरकार ऐसे लोगों की पहचान कर उनका राशन कार्ड रद्द करने की योजना बना रही है. सरकार ने बताया है कि जिनके पास 100 वर्ग मीटर का प्लॉट, ट्रैक्टर, चौपहिया वाहन, गांव में 2 लाख की आय या शहरों में 3 लाख की आय है या उनके घरों में एसी लगा है.

उन अपात्र लाभार्थियों का राशन कार्ड सरेंडर कर दिया जाएगा। अगर ये लोग अपना राशन कार्ड सरेंडर नहीं करते हैं। ऐसे में सरकार इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। इसके अलावा राशन की सुविधा का गलत तरीके से लाभ उठा रहे अपात्र लोगों से भी अधिकारी वसूली कर सकते हैं।

,


UttarPradeshLive.Com Home Click here
Check Amazon Mobile Offers Click here

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply