महाशिवरात्रि के स्नान पर्व के अवसर पर मेला प्रशासन द्वारा अस्थाई रूप से छह घाटों का निर्माण किया गया है. स्नान घाटों पर महिलाओं के कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम और शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं. समाचार सुनें समाचार सुनें माघ मेले के अंतिम स्नान पर्व महाशिवरात्रि के दिन मंगलवार को संगम में पवित्र स्नान की तैयारी पूरी कर ली गई. अंतिम स्नान संगम सहित गंगा के छह स्नान घाटों पर किया जाएगा। इसके लिए शहर से लेकर पूरे पूर्वांचल तक के श्रद्धालु जुटेंगे। इसके साथ ही माघ मेला समाप्त हो जाएगा। महाशिवरात्रि के स्नान पर्व के अवसर पर मेला प्रशासन द्वारा अस्थाई रूप से छह घाटों का निर्माण किया गया है. स्नान घाटों पर महिलाओं के कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम और शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं. जिन घाटों पर शौचालय नहीं है, वहां नगर निगम के मोबाइल शौचालय लगाए जाएंगे। आयुक्त ने तैयारियों की समीक्षा की, मंडलायुक्त संजय गोयल ने मेला प्राधिकरण कार्यालय के ट्रिपल सी सभागार में माघ मेला के अंतिम स्नान पर्व महाशिवरात्रि की तैयारियों की समीक्षा की. उन्होंने मेला क्षेत्र में घाटों के अलावा शौचालयों की उपलब्धता व साफ-सफाई के निर्देश दिए. संभागायुक्त ने सफाई कर्मियों को सड़कों से घाटों तक तैनात करने के भी निर्देश दिए. कल्पवासों के जाने के बाद मेला क्षेत्र में टेंटों की नगरी की बस्ती समाप्त हो गई है। ऐसे में मेला प्रशासन की ओर से महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं. अधिकारियों के अनुसार महाशिवरात्रि पर मेला क्षेत्र में 650 शौचालयों की व्यवस्था की गई है. कोविड हेल्प डेस्क के अलावा परेड में संगम समेत हर स्नान घाट पर एंबुलेंस की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं. स्वास्थ्य सुविधाओं की बात करें तो मेला क्षेत्र में अभी भी तीन प्राथमिक चिकित्सा केंद्र और एक अस्पताल संचालित है, ताकि महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं को जरूरत पड़ने पर इलाज की सुविधा मिल सके. महाशिवरात्रि स्नान पर्व के अवसर पर शिव मंदिरों के आसपास साफ-सफाई और पार्किंग की सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं, शिव मंदिरों के आसपास साफ-सफाई के साथ ही मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं. संभागायुक्त संजय गोयल ने नाग वासुकी के अलावा सोमेश्वर महादेव, मनकामेश्वर महादेव के मंदिरों के आसपास बिजली, पानी, साफ-सफाई के साथ ही पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. महाशिवरात्रि की तैयारियों की समीक्षा के दौरान मेला अधिकारी अरविंद कुमार चौहान, एसपी मेला राजीव नारायण मिश्रा समेत कई अधिकारी मौजूद रहे.

विस्तार

माघ मेले के अंतिम स्नान पर्व महाशिवरात्रि पर मंगलवार को संगम में पवित्र स्नान की तैयारी पूरी कर ली गयी. अंतिम स्नान संगम सहित गंगा के छह स्नान घाटों पर किया जाएगा। इसके लिए शहर से लेकर पूरे पूर्वांचल तक के श्रद्धालु जुटेंगे। इसके साथ ही माघ मेला समाप्त हो जाएगा। महाशिवरात्रि के स्नान पर्व के अवसर पर मेला प्रशासन द्वारा अस्थाई रूप से छह घाटों का निर्माण किया गया है. स्नान घाटों पर महिलाओं के कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम और शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं. जिन घाटों पर शौचालय नहीं है, वहां नगर निगम के मोबाइल शौचालय लगाए जाएंगे। ,

UttarPradeshLive.Com Home Click here

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply