खबर सुनें खबर सुनें सहारनपुर। जिले में मंगलवार को महाशिवरात्रि के मौके पर पगोडाओं में दिन भर बोल बम के जयकारों से माहौल गूंज उठा. लंबी लाइनों में खड़े भक्तों ने अपने आराध्य भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया। कुछ स्थानों पर रुद्राभिषेक के विशेष अनुष्ठान भी हुए। अंबेहटा के शिवालयों में बड़ी संख्या में शिव भक्तों ने भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया। बम बम-बम के जयकारों से माहौल शिवमय बना रहा। बड़गांव और बदुली के शिव मंदिरों में सुबह से ही जलाभिषेक के लिए कतारें लगी रहीं। यज्ञ के बाद यहां विशाल भंडार का आयोजन भी किया गया। चिलकाना में बस स्टैंड पर स्थित शिव मंदिर, पुरानी घास मंडी में हनुमान मंदिर, सुल्तानपुर का बाजार मंदिर, कंकड़ वाला मंदिर, चारजोन का मंदिर सुबह से ही भक्त भगवान शिव की पिंडी पर बेलपत्र, फल चढ़ाते हैं और पूजा करने आते हैं। संलग्न रहें। धौलाहेरी, पाथेड, दानतपुर, पजबांगर, वायलेट, चौरीमंडी, पाटनी, सीकरी, अहारी, बड़गांव, रघुनाथपुर, खेदामवत, पटना, तेलीपुरा आदि गांवों में महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा की जाती थी. सभी मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। नागल कस्बे और देहात में श्रद्धालुओं ने कतार में खड़े होकर जलाभिषेक किया. नसीरपुर डिगोली के शिव मंदिर में यज्ञ के बाद विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। छुटमालपुर के मनकामेश्वर शिव मंदिर, वैदिक शिव सत्संग मंदिर, संकटमोचन हनुमान मंदिर, फतेहपुर शिव मंदिर, रामखेड़ी शिव मंदिर, बेहड़ा संदल सिंह शिव मंदिर में बोल बम की जयघोष के बीच श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया. संकट मोचन हनुमान मंदिर में स्थापित शिवलिंग पर पंडित दीपचंद ने रुद्राभिषेक किया। चिलकाना मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालु – फोटो: सहारनपुर सहारनपुर। जिले में मंगलवार को महाशिवरात्रि के मौके पर पगोडाओं में दिन भर बोल बम के जयकारों से माहौल गूंज उठा. लंबी लाइनों में खड़े भक्तों ने अपने आराध्य भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया। कुछ स्थानों पर विशेष अनुष्ठान रुद्राभिषेक का भी आयोजन किया गया। अंबेहटा के शिवालयों में बड़ी संख्या में शिव भक्तों ने भगवान आशुतोष का जलाभिषेक किया। बम बम-बम के जयकारों से माहौल शिवमय बना रहा। बड़गांव और बदुली के शिव मंदिरों में सुबह से ही जलाभिषेक के लिए कतारें लगी रहीं। यज्ञ के बाद यहां विशाल भंडार का आयोजन भी किया गया। चिलकाना में बस स्टैंड पर स्थित शिव मंदिर, पुरानी घास मंडी में हनुमान मंदिर, सुल्तानपुर का बाजार मंदिर, कंकड़ वाला मंदिर, चारजोन का मंदिर सुबह से ही भक्त भगवान शिव की पिंडी पर बेलपत्र, फल चढ़ाते हैं और पूजा करने आते हैं। संलग्न रहें। धौलाहेरी, पाथेड, दानतपुर, पजबांगर, वायलेट, चौरीमंडी, पाटनी, सीकरी, अहारी, बड़गांव, रघुनाथपुर, खेदामवत, पटना, तेलीपुरा आदि गांवों में महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा की जाती थी. सभी मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। नागल कस्बे व देहात में श्रद्धालुओं ने कतार में खड़े होकर जलाभिषेक किया. नसीरपुर डिगोली के शिव मंदिर में यज्ञ के बाद विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। छुटमालपुर के मनकामेश्वर शिव मंदिर, वैदिक शिव सत्संग मंदिर, संकटमोचन हनुमान मंदिर, फतेहपुर शिव मंदिर, रामखेड़ी शिव मंदिर, बेहड़ा संदल सिंह शिव मंदिर में बोल बम के नारे के बीच श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया. संकट मोचन हनुमान मंदिर में स्थापित शिवलिंग पर पंडित दीपचंद ने रुद्राभिषेक किया। चिलकाना मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालु – फोटो: सहारनपुर।

UttarPradeshLive.Com Home Click here

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply