समाचार सुनें समाचार सुनें, सावधान रहें। असमोली विधानसभा सीट पर वोटों की गिनती सबसे लंबी चली। इसका कारण यह था कि तीन बूथों की चार ईवीएम में तकनीकी खराबी आ गई थी। असमोली विधानसभा सीट के 446 बूथों की मतगणना 32 राउंड में हो चुकी है. तीन बूथों की चार ईवीएम में तकनीकी खराबी आई तो कर्मी भी भड़क गए। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद मतगणना मशीनों से शुरू हो सकी। जिले की तीन विधानसभा सीटों संभल, चंदौसी और गुन्नौर के लिए मतगणना शाम सात बजे तक समाप्त हो चुकी थी. प्रत्याशी भी प्रमाण पत्र लेकर अपने घरों को रवाना हुए थे। असमोली विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी पिंकी यादव की जीत का अंतर अधिक होने पर भाजपा प्रत्याशी हरेंद्र कुमार अपने समर्थकों के साथ मतगणना स्थल से चले गए। मतगणना स्थल पर सिर्फ पिंकी यादव और उनके समर्थक ही बचे थे. सावधान। असमोली विधानसभा सीट पर वोटों की गिनती सबसे लंबी चली। इसका कारण यह था कि तीन बूथों की चार ईवीएम में तकनीकी खराबी आ गई थी। असमोली विधानसभा सीट के 446 बूथों की मतगणना 32 राउंड में हो चुकी है. तीन बूथों की चार ईवीएम में तकनीकी खराबी आई तो कर्मी भी भड़क गए। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद मतगणना मशीनों से शुरू हो सकी। जिले की तीन विधानसभा सीटों संभल, चंदौसी और गुन्नौर के लिए मतगणना शाम सात बजे तक समाप्त हो चुकी थी. प्रत्याशी भी प्रमाण पत्र लेकर अपने घरों को रवाना हुए थे। असमोली विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी पिंकी यादव की जीत का अंतर अधिक होने पर भाजपा प्रत्याशी हरेंद्र कुमार अपने समर्थकों के साथ मतगणना स्थल से चले गए। मतगणना स्थल पर सिर्फ पिंकी यादव और उनके समर्थक ही बचे थे. ,

UttarPradeshLive.Com Home Click here

( News Source – News Input – Source )

( मुख्य समाचार स्रोत – स्रोत )

Subscribe to Our YouTube, Instagram and Twitter – TwitterYoutube and Instagram.

Leave a Reply